उत्तराखण्ड में अब तक कोरोना शतक मार चूका है। उत्तराखण्ड में कोरोना के101 पॉजिटिव मिल चुके है। इसी बाच एक बहुत बड़ी खबर आ रही है जिसमे उत्तरकाशी के बडकोट तहसील का युवक कोरोना पॉजिटिव पता गया है प्राप्त जानकारी के अनुसार युवक ने ऋषिकेश एम्स में भी सेम्पल दिया और सेम्पल लेने के बाद उसे घर भेज दिया गया था। इसके बाद प्रशासन और युवक दोनों ही सवाल के घेरे में है आखिर कोरोना संदिक्त होने के बाद भी उसे घर क्यों जाने दिया ? यही नहीं युवक ने अपनी ट्रेवल हिस्ट्री भी किसी को नहीं बतायी।

यह भी पढ़िये: चमोली में कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आने से मचा हडकंप, इस जगह से है सम्बन्ध

बताया जा रहा है सेम्पल देने के दौरान ही युवक में कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहे थे।लेकिन युवक को अस्पताल में रखने के बजाय उसे घर भेज दिया गया। और सबसे बड़ी बात ये है की सेम्पल लेने के बाद युवक को बस से बडकोट भेजा गया। वहां उसे क्वारंटीन सेंटर में रखा गया। अब बस में सवार सभी लोगों और क्वारंटीन सेंटर में उसके साथ रहे लोगों को भी खतरा हो गया है। इसके साथ साथ ही जो 6 लोग कोरोना पॉजिटिव के साथ आये थे अब उनको भी आइसोलेट किया गया है। इस दौरान युवक के संपर्क में आए लोगों पर भी खतरा मंडरा रहा है। अब पुलिस उन सभी लोगों का पता लगा रही है जो युवक के संपर्क में आई थी।लेकिन ये सवाल जरुर खड़ा होता है की कोरोना संधिक्त होने के बावजूत भी युवक को घर कैसे जाने दिया ? एम्स हॉस्पिटल और प्रशासन सवाल के घेरे में जरुर है।

यह भी पढ़िये: अभी अभी: पौड़ी जिले में सामने आया कोरोना संक्रमण का नया मामला, प्रवासियों से जुड़ा है ये मामला भी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here