Home उत्तराखंड पहाड़ के इस जिले में पाइपलाइन के जरिए पहुंचेगी रसोई गैस, मिलेगी...

पहाड़ के इस जिले में पाइपलाइन के जरिए पहुंचेगी रसोई गैस, मिलेगी सिलेंडर भरवाने की झंझट से मुक्ति

4
0

अब गैस उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर भरवाने और नए कनेक्शन लेने में आने वाली दिक्कतों से निजात मिलेगी। उत्तराखंड के नैनीताल जिले में नगर पालिका ने हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड के साथ मिलकर शहर में गैस पाइपलाइन बिछाने की योजना बना रही है। इस योजना के अनुसार शहर में दो गैस डिपो स्थापित किए जाएंगे। जिनसे पाइप लाइनों के माध्यम से घरों तक रसोई गैस उपलब्ध कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें: दाढ़ी पर बवाल: 3 बार चेतावनी देेने के बाद भी दारोगा ने नहीं काटी दाढ़ी, एसपी ने किया सस्पेंड

जानकारी के लिए आपको बता दें, सरोवर नगरी में पुरे साल पर्यटन के लिए यात्रियों का तांता लगा रहता है। शहर की भौगोलिक स्थिति के एवं भीड़ भाड़ होने के कारण शहर में बड़ी गाड़ियों का आवागमन प्रतिबंधित है। जिससे गैस उपभोक्ताओं को लंबा सफर तय कर गैस सिलेंडर भरवाने पड़ते हैं। जिसे देखते हुए जिला प्रशासन और पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी द्वारा शहर में गैस पाइपलाइन बिछाने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। पालिकाध्यक्ष ने बताया कि हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड के प्रतिनिधि शहर का निरीक्षण कर चुके हैं। जिसमें दो गैस डिपो स्थापित करने से लेकर पाइप लाइन बिछाने के लिए शहर के विभिन्न क्षेत्रों का सर्वे किया गया है। सर्वे रिपोर्ट प्रतिनिधियों द्वारा कंपनी के उच्चाधिकारियों को सौंपी जानी है। जिसकी मंजूरी के बाद पालिका और कंपनी के बीच अनुबंध किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड: पहाड़ का एक और युवक IPL में बना करोड़पति, रातोंरात बदली किस्मत

पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी ने बताया कि कंपनी द्वारा गैस डिपो स्थापित करने के लिए पालिका द्वारा नारायण नगर, सूखाताल, दुर्गापुर और लकड़ीटाल का सुझाव दिया गया है। जिसमें मल्लीताल स्थित लकड़ी टाल को डिपो स्थापित करने के लिए उचित बताया गया है। पालिकाध्यक्ष ने यह भी बताया की शहर में करीब पांच किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाने की योजना है। जिससे पहले चरण में शहर के पांच से दस हजार उपभोक्ताओ को इसका लाभ दिया जाएगा।

कंपनी का दावा है कि प्राकृतिक गैस उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर उपलब्ध हो पाएगी। इससे अलावा जहां ट्रांसपोर्ट और वाहनों से सिलेंडरों को डिलीवर करने का खर्च कम होगा, वहीं उपभोक्ताओं को भी बार बार गैस सिलेंडर भरवाने की परेशानी से निजात मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here