Home उत्तराखंड कोरोना वायरस: देहरादून में सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड फुल, अब...

कोरोना वायरस: देहरादून में सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड फुल, अब कैसे होगा इंतजाम

1
0

उत्तराखंड में कोरोना वायरस अब बेकाबू हो चुका है ऐसा हम नहीं बल्कि आंकड़े गवाही दे रहे हैं। रविवार को प्रदेश में कोरोना के रिकॉर्डतोड़ 1637 मामले आए हैं। चिंता की बात ये है कि कुल सैंपल में 15.26 फीसद पॉजिटिव मरीज निकले हैं, जबकि देशभर में यह दर 10 फीसदी के आसपास है। अगर आंकड़ों का विश्लेषण करें तो देहरादून में हर तीसरा, नैनीताल में हर चौथा और ऊधमसिंह नगर व हरिद्वार में टेस्ट कराने वाला हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमित निकल रहा है। सरकारी और निजी लैब में कुल 10725 सैंपल की जांच हुई है। इनमें 9088 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। देहरादून में सर्वाधिक 623 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड: ढाई साल के कोरोना पॉजिटिव बच्चे की इलाज के दौरान मौत, बेस हॉस्पिटल से दून किया था रेफर

सबसे ज्यादा बेकाबू हालात देहरादून जिले में नजर आ रहे हैं एक तो यहाँ प्रदेशभर में सबसे अधिक संक्रमित मरीज हैं और फिर राजकीय दून मेडिकल अस्पताल और ऋषिकेश एम्स के बाद अब निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित किए गए आईसीयू बेड भी फुल हो गए हैं। मरीज और उनके परिजन अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन उन्हें बेड नहीं मिल पा रहा। यह स्थिति कोरोना मरीजों की जान पर भारी भी पड़ रही है।  दून अस्पताल में आईसीयू के 35 बेड लगभग फुल चल रहे हैं। एम्स में भी कमोवेश यही स्थिति है। इसे देखते हुए सरकार ने कुछ निजी अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों को सशर्त भर्ती करने की इजाजत दे थी। हालांकि अब इन अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के इलाज को लेकर व्यवस्थाएं कमतर नजर आ रही हैं।

यह भी पढ़ें: शाबाश भुली राधा.. लकड़ियाँ तोड़ने पेड़ पर चडी राधा पर भालू ने किया हमला, दरांती से मार भगाया

मौजूदा समय में हालत यह है कि मरीज अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन उन्हें बेड नहीं मिल पा रहा। हालांकि सरकार और स्वास्थ्य विभाग निजी अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड बढ़ाने की तैयारी में हैं। वहीं राजकीय मेडिकल अस्पताल में भी बहुत जल्द 100 बेड का आईसीयू तैयार किया जाना है।

अस्पतालों में आईसीयू की स्थिति 

श्री महंत इंद्रेश अस्पताल : 20 बेड, सभी फुल

मैक्स अस्पताल : 10 बेड, सभी फुल

जौलीग्रांट अस्पताल : 25 बेड, 16 फुल

कैलाश अस्पताल- 9 बेड, सभी फुल

यह भी पढ़िये: उत्तराखंड के एक और जवान का जम्मू कश्मीर में ड्यूटी के दौरान निधन, परिवार में मचा कोहराम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here