Home उत्तराखंड बद्रीनाथ धाम में ईद की नमाज अता किये जाने को लेकर हिन्दू...

बद्रीनाथ धाम में ईद की नमाज अता किये जाने को लेकर हिन्दू संगठनों में भारी आक्रोश

3
0

सनातन धर्म की पवित्र स्थान बद्रीनाथ के इतिहास में पहली बार नमाज अता किए जाने की सूचना मिलने पर पूरे क्षेत्र में भारी आक्रोष देखा जा रहा है। विहिप को इसकी जानकारी मिलते ही विहिप पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय गोपेश्वर पहुंचकर प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज के साथ ही डीएम व पुलिस अधीक्षक से भेंट कर सनातन आस्था के प्रतीक भगवान बदरीविशाल की धरती पर इस प्रकार दुस्साहस करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की।

बद्रीनाथ धाम मे भी नमाज पढे जाने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। बदरीनाथ ब्यापार संघ के अध्यक्ष विनोद नवानी के अनुसार आस्था पथ पर निर्माणाधीन पार्किगं/वेटिग हाल मे नमाज पढे जाने की सूचना है, जिसमें काफी संख्या में नमाजी मौजूद थे, यह सरासर गलत है। डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के कार्यकारी अध्यक्ष विनोद डिमरी ने भी श्री बदरीनाथ धाम मे नमाज पढे जाने पर गहरी आपत्ति जताते हुए आवश्यक कार्यवाही की अपेक्षा की है। चारधाम तीर्थपुरोहित हकहकूकधारी महापंचायत के महामंत्री हरीश डिमरी मे सनातन धर्म के आस्था के प्रतीक श्री बदरीनाथ धाम मे पहली बार नमाज पढे जाने की सूचना पर बहुत दूख व अफसोस हुआ है। इस प्रकार का दुस्साहस करने वालों के खिलाफ सख्त सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए।

दूसरी ओर बदरीनाथ के थाना प्रभारी सतेन्द्र सिंह के अनुसार यहाॅ विभिन्न कार्यों में लगे मजदूरों द्वारा अपने-अपने कमरों में नमाज पढने की सूचनांएं मिली है।, उन्होंने बताया कि मुकदमा पंजीकृत किए जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं, आवश्यक जाॅच कर मुकदमा पंजीकृत किए जाने की कार्यवाही की जा रही है।

READ  उत्तराखंड: यह नगर बन रहा बदमाशों की पसंदीदा जगह...लगातार बढ़ रही अपराधिक घटनायें

विहिप द्वारा प्रभारी मंत्री को दिए गए ज्ञापन मे कहा गया है कि हिन्दुओं के पवित्र धार्मिक स्थल श्री बदरीनाथ मे अन्य धर्म के लोगो द्वारा जानबूझ कर नमाज पढी गई, और संदेह है कि बकराईद होने के कारण सभंवत बकरे का हलाल भी किया गया हो। कहा गया है कि बदरीनाथ धाम मे इस प्रकार के ज्ञापन कृत्य किए जाने से करोडो हिंन्दुओ की भावनांए आहत हुई हैं, मे कहा गया है कि श्री बदरीनाथ धाम मे मांस, मदिरा के साथ ही अन्य धर्म व संप्रदाय के धार्मिक क्रियाकलपों पर भी प्रतिबंन्ध है,वावजूद इसके नमाज पढी गई जिससे समस्त हिन्दु समाज मे आक्रोश व्याप्त है। ज्ञापन मे तत्काल संज्ञान लेते हुए इस प्रकार के कुकृत्य करने वाले असमाजिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here