Home उत्तराखंड केदारनाथ यात्रा: अब हर यात्री को करना होगा कोरोना टेस्ट, स्थानीय लोगों...

केदारनाथ यात्रा: अब हर यात्री को करना होगा कोरोना टेस्ट, स्थानीय लोगों पर भी नियम लागू

6
0

एक वक्त कोरोना मुक्त हो चुके रुद्रप्रयाग जिले में फिर से कुछ दिनों से लगातार संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं जिसके बाद प्रशासन की पेशानी पर भी बल पड़ चुका है। बीते दस दिनों से रुद्रप्रयाग जनपद में कोरोना के 17 नए मामले आ चुके हैं। ऐसे में अब प्रशासन और विभाग अपने स्तर पर कोई भी चूक नहीं करना चाहता। यही कारण है कि  अब बाबा केदार के दर्शनों को जाने वाले हर व्यक्ति को  अपना कोरोना टेस्ट कराना होगा। रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही वे यात्रा पर जा सकते हैं। अभी तक यह नियम बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए ही लागू किया गया था।

यह भी पढ़िये: रुद्रप्रयाग: अनलॉक में पहाड़ चड़ा कोरोना, रुद्रप्रयाग में 15 दिन में कोरोना के 21 पॉजिटिव केस

इस बात की निगरानी के लिए जिलाधिकारी वंदना चौहान ने सोनप्रयाग में व्यवस्था को और पुख्ता बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, उसे ध्यान में रखते हुए स्थानीय स्तर पर कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। इसके साथ ही केदारनाथ यात्रा के सम्बन्ध में कुछ दूसरे भी महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं, अब तक यात्रा पर जाने वाले लोगों को लम्बी यात्रा के दौरान खाने-पीने की बड़ी दिक्कतें सामने आ रही थी क्यूंकि पैदल मार्ग पर सिर्फ 6 दुकानें ही संचालित की जा रही थी। लेकिन अब प्रशासन ने लॉटरी के जरिये 30 अन्य स्थानीय लोगों को भी यात्रा मार्ग पर दुकानें खोलने की अनुमति दे दी है।

यह भी पढ़िये: उत्तराखण्ड से बड़ी खबर: देर रात इस जिले में 71 नए पॉजिटिव केस, आंक़ड़ा पहुंचा 8623

चारधाम यात्रा के लिए एक जुलाई से अब तक देवस्थानम बोर्ड ने 29 हजार से अधिक ई-पास जारी किए हैं। इसमें 15 हजार श्रद्धालुओं ने चारधाम के दर्शन किए हैं। चारधाम देवस्थानम बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने बताया कि बृहस्पतिवार को चारधाम के लिए 481 ई-पास जारी किए गए। बद्रीनाथ धाम के लिए 95, केदारनाथ के 292, गंगोत्री के 66, यमुनोत्री के 28 ई-पास बनाए गए।

यह भी पढ़िये: उत्तराखंड: कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा पहुँचा 112, आज मिले 278 नए मामले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here