Home उत्तराखंड बड़ी खबर: हरीश रावत ने की कांग्रेस से की इन्हें मुख्यमंत्री का...

बड़ी खबर: हरीश रावत ने की कांग्रेस से की इन्हें मुख्यमंत्री का चहरा बनाने की मांग, जानीये पूरा मामला

2
0
Swabbing barred rock mix breed rooster to test for avian influenza

उत्तराखंड के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस महासचिव हरीश रावत के एक और बयान से कांग्रेस के साथ ही उत्तराखंड में भी हलचल तेज हो गई है। दरअसल, हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को सीएम पद का चेहरा घोषित करने की मांग की है। पूर्व सीएम ने लिखा प्रीतम सिंह सेनापति हैं और ये कथन बिल्कुल सही है। उन्होंने ये भी कहा कि सीएम पद के चेहरे के रूप में इंदिरा हृदयेश का भी स्वागत करूंगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: चुनाव जीतने के लिए दोस्त की बीवी ली उधार, जीत के बाद बदली नीयत और अब…

इसी के साथ रावत ने प्रदेश में चुनाव सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़े जाने की रणनीति से भी अपने आप को अलग कर लिया।  चुनाव में प्रदेश कांग्रेस की ओर से चेहरा घोषित किए जाने के विवाद में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत खुलकर मैदान में उतर आए। सोमवार को हरीश रावत ने कहा था कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी चेहरा घोषित करे और जिसे चेहरा बनाए उसे ही मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी घोषित करे। अंदरखाने कई कांग्रेसी नेताओं ने इसे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की खुद को चेहरा घोषित कराने की मुहिम के रूप में देखा था।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड: पहाड़ में दर्दनाक हादसा, अंगीठी की गैस से दम घुटने से पति की मौत..पत्नी गंभीर

लेकिन अब अगले ही दिन मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस विवाद को खुद ही अपना नाम मुख्यमंत्री पद की दौड़ से बाहर कर समाप्त कर दिया। फेसबुक पर रावत ने लिखा कि प्रीतम सिंह सेनापति हैं तो उनको मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर दिया जाए। इसके साथ ही रावत ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में इंदिरा हृदयेश का भी स्वागत है। उन्होंने आगे कहा मैंने अपने नाम को लेकर जो असमंजस है, उसको समाप्त किया है।’’ कांग्रेस महासचिव ने पार्टी नेतृत्व से उन्हें सामूहिक नेतृत्व की पंक्ति से हटा दिए जाने का भी अनुरोध किया और कहा, ‘‘ कुछ समय व्यक्ति को उन्मुक्त भी रहना चाहिये। मैं उसी दिशा में बढ़ते हुये, राजनीति के बल पर धन कमाकर अब प्रदेश की राजनीति पर कब्जा जमाने की प्रवृत्ति के विरूद्ध जन जागृति जगाने का काम करना चाहता हूँ।’’

READ  उत्तराखंड: चुनाव जीतने के लिए दोस्त की बीवी ली उधार, जीत के बाद बदली नीयत और अब...

उत्तराखंड में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि… रेड अलर्ट हुआ जारी… आपके लिए ये हैं दिशानिर्देश

वे आगे लिखते हैं ‘मेरे लिये निरंतर यह देखना भी कष्टकारक है कि कांग्रेस संगठन एक होटल की चार दिवारी में कैद होकर न रह जाय। मुझे कार्यकर्ताओं और स्वराज आश्रम की गरिमा को भी पुनः स्थापित करना है, फिर कभी-कभी कुछ नाम बोझ हो जाते हैं, 2017 में कुछ ऐसी स्याही से मेरा नाम लिखा गया जो #कांग्रेस के ऊपर बोझ बन गया। मैं, कांग्रेस को पापार्जित धन की स्याही से लिखे गये नाम के बोझ से भी मुक्त कर देना चाहता हूँ, संयुक्त नेतृत्व में भी ऐसे नाम का बोझ पार्टी पर बना रहेगा।’

यह भी पढ़ें: सेना की जासूसी: जमीन बेचकर मां ने काबिल बनाया था बेटा, चंद पैसों के लालच में देशभक्ति भूल गया सौरभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here