Home उत्तराखंड Haridwar Kumbh Mela 2021: कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए...

Haridwar Kumbh Mela 2021: कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जरूरी ख़बर, कराना होगा रजिस्ट्रेशन

80
0

हरिद्वार में कुंभ मेले का आयोजन होना है। इसके लिए प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी के तहत कुंभ मेले में आने वाले यात्री रजिस्ट्रेशन कराने के बाद ही कुंभ मेला क्षेत्र में प्रवेश कर सकेंगे। आज की तिथि में भी कुंभ मेला प्रशासन रजिस्ट्रेशन चेक कर रहे हैं। तथा रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर रहे हैं। जो भी कुंभ यात्री बस या ट्रेन से आयेंगे। उन्हें यात्रा प्रारंभ करने वाले स्थल पर थर्मल स्क्रीनिंग करानी होगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत की अध्यक्षता में बुधवार को मेला नियंत्रण भवन में कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुये कुंभ के आयोजन के संबंध में बैठक आयोजित हुई। बैठक में कुंभ में आने वाले यात्रियों के रजिस्ट्रेशन के संबंध में चर्चा हुई कि जो भी कुंभ मेला क्षेत्र में प्रवेश करेगा, वह रजिस्ट्रेशन कराकर आयेगा। बैठक में फ्री ऑफ कास्ट मास्क उपलब्ध कराने पर भी चर्चा की गई। निर्णय लिया गया कि बिना मास्क के कोई भी घाट पर स्नान नहीं करेगा। दुकानदारों को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना होगा तथा उन्हें ट्रेनिंग दी जायेगी।

कोविड-19 के दृष्टिगत अस्पतालों की क्षमता, नये अस्पतालों का सृजन कहा-कहां होना है, वर्तमान में उपलब्ध बेड, किन-किन क्षेत्रों में होटल व धर्मशालाओं का अधिग्रहण करना है। इस पर भी विस्तार से चर्चा की गई। अतिक्रमण को लेकर जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि वर्तमान में अतिक्रमण का कोई प्रकरण संज्ञान में नहीं है। अगर कहीं पर अतिक्रमण है, तो उसकी सूची प्रशासन को उपलब्ध कराई जाए। बैठक में मेला अधिकारी दीपक रावत ने खड़खड़ी श्मशान क्षेत्र के पुल को जल्दी शुरू करने एवं चण्डी पुल को डबल लेन करने के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए।

READ  उत्तराखंड: पेड़ पर लटकी मिली युवक-युवती की लाश, इलाके में मचा हड़कंप

पार्किंग को लेकर आईजी कुंभ संजय गुंज्याल ने सप्त ऋषि, आरटीओ चैराहे के पास चिह्नित पार्किंग को 14 जनवरी से पूर्व समतल करने की बात कही। बैठक में कनखल, मायापुर, जगजीतपुर, बैरागी, दक्षदीप, गौरीशंकर, रोड़ीवाला, लालजीवाला, पन्तदीप, भीमगौड़ा, सप्त सरोवर, रानीपुर आदि पार्किंग स्थलों के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा हुई।

Source

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here