Home उत्तराखंड हरिद्वार: बारात में दोस्त को नहीं ले गया तो उसने 50 लाख...

हरिद्वार: बारात में दोस्त को नहीं ले गया तो उसने 50 लाख का मानहानि नोटिस भेज दिया

41
0

जिगरी दोस्त की शादी में ना जाने पाने का दुख किसे नहीं होता है। लेकिन हरिद्वार के एक युवक को दोस्त की शादी में ना जाने पर ऐसा गुस्सा आया कि उसने 50 लाख रुपए का नोटिस भेज दिया। वो भी अपने ही दोस्त को। फिल्मी कहानी जैसा लग रहा ये वास्तविक मामला उत्तराखंड में हरिद्वार के देवनगर इलाके का है। निमंत्रण देने के बावजूद बारात में नहीं ले जाने पर एक युवक ने अपने दूल्हे दोस्त पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए 50 लाख रुपये का मानहानि का नोटिस भेज दिया है। बताया जा रहा है कि युवक इस कदर मानसिक तनाव में आ गया था कि आत्महत्या करने की सोचने लगा था।

बीती 23 जून को हरिद्वार के आराध्या कॉलोनी के निवासी रवि की शादी हुई। उसने अपनी शादी में आने के लिए अपने मित्र चंद्रशेखर को कार्ड भी दिया था। साथ ही कुछ और कार्ड्स भी दिए और एक लिस्ट। रिश्तेदारों को बांटने के लिए। कार्ड देते समय रवि ने चंद्रशेखर को बताया कि 23 जून की शाम 5 बजे शादी में चलना है। जहां से साथ जाना था वो जगह भी उसने बता दी थी। चंद्रशेखर अपने यार की शादी में जाने के लिए निर्धारित समय से पहले असेंबलिंग पॉइंट पर पहुंच भी गया था। लेकिन दूल्हे राजा को बारात निकालने की इतनी जल्दी थी कि वो और भी जल्दी वहां से बारात लेकर चला गया।

उधर चंद्रशेखर असेंबलिंग पॉइंट पर दूसरे रिश्तेदारों के साथ इंतजार करता रहा। बारात का कुछ अता-पता ना चलने पर उसने रवि को फोन मिलाया। दूसरे रिश्तेदारों ने भी फोन किया। सारा माजरा बताया। लेकिन दूल्हे रवि ने जो जवाब दिया उसने चंद्रशेखर का मूड खराब कर दिया। खबर के मुताबिक रवि ने अपनी गलती मानने के बजाय कहा कि वो तो बारात लेकर जा चुका है और वहां बचे लोग अब वापस चले जाएं। इस पर मौके पर खड़े बारातियों ने शादी के कार्ड बांटने वाले दोस्त चंद्रशेखर को जमकर खरी-खोटी सुनाई। यही बात चंद्रशेखर के दिल पर लग गई।

चंद्रशेखर के वकील ने बताया कि इस बात को चंद्रशेखर ने अपना अपमान समझा और वह इस कदर मानसिक तनाव में आ गया कि आत्महत्या करने की सोचने लगा और दूल्हे पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए 50 लाख रुपये के मानहानि का कानूनी नोटिस भेज दिया। उन्होंने बताया कि इस अपमान को लेकर न्याय दिलाने का भरोसा देकर उन्होंने चंद्रशेखर को आत्महत्या करने से रोका। चंद्रशेखर ने अपने दोस्त दूल्हे को फोन करके मानहानि का नोटिस भेजने की बात बताई। मगर इसके बाद भी उसके दोस्त ने जब उसकी बात को गंभीरता से नहीं लिया तो उसने दूल्हे को 50 लाख रुपये का मानहानि का कानूनी नोटिस भेजते हुए तीन दिन में सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगने पर कानूनी कारवाई करने की चेतावनी दी है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here