Home उत्तराखंड उत्तराखण्ड में गजब होगया: प्लास्टिक के बैग में शिशु का शव लेकर...

उत्तराखण्ड में गजब होगया: प्लास्टिक के बैग में शिशु का शव लेकर अस्पताल पहुंची दादी, जानिये पूरा मामला

746
0

देहरादून में गर्भस्थ शिशु की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। बच्चे के जन्म के बाद युवती की हालत बिगड़ी तो परिजनों ने उसे पहले एंबुलेंस से अस्पताल भेजा दिया। इलाज के दौरान युवती की खराब हालत के बारे में भी उन्होंने डॉक्टर से झूठ बोला। मौके पर पुलिस पहुंची तो युवती की मां ने प्लास्टिक के बैग में रखा शिशु का शव दिखा दिया। पोस्टमार्टम में जन्म से पहले ही बच्चे की मौत की पुष्टि हुई है। वहीं, इस घटना से कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं। पुलिस और सीएमओ ने मामले की जांच बैठा दी है।   जानकारी के अनुसार मूल रूप से झारखंड निवासी 20 वर्षीय युवती मां और अन्य परिजनों के साथ रायपुर और नेहरू कॉलोनी थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाके में रहती है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड: इन रूटों पर चलेंगी आज से रोडवेज की बसें, बिना मास्क ‘नो एंट्री’… जानिये किराया

मंगलवार रात लगभग 3:00 बजे 108 एंबुलेंस को सूचना दी गई कि युवती के पेट में बहुत दर्द हो रहा है। इस पर एंबुलेंस ने युवती को गांधी शताब्दी अस्पताल पहुंचाया।
इमरजेंसी में जांच के बाद रात्रि ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने युवती को लेबर रूम में भर्ती किया। मां ने डॉक्टर से कहा कि पिछले तीन महीने से युवती के मासिक धर्म में गड़बड़ी हो रही है। जिसके चलते वह परेशान है। उन्होंने डॉक्टर से अनुरोध किया कि वह एक इंजेक्शन लगाकर उसको घर भेज दें। लेकिन डॉक्टर ने युवती की गंभीर हालत को देखते हुए उसे उचित उपचार देना शुरू किया। साथ ही संदेह होने पर डालनवाला कोतवाली पुलिस को भी सूचना दी गई।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड से बुरी खबर: मंदिर जा रही महिला पर तेंदुआ का हमला, मौके पर मौत

पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर युवती की मां से पूछताछ की तो वह सकपका गई और इधर-उधर की बातें करने लगी। कुछ ही देर बाद वह बाहर जाकर दो प्लास्टिक के बैग ले आई। एक में मृत शिशु और दूसरे में कुछ मांस के टुकड़े थे। इस पर पुलिस ने प्राथमिक सूचना दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी। युवती के साथ आई मां का कहना था कि वह झारखंड के रहने वाले हैं और तंत्र मंत्र में विश्वास करते हैं। उसका कहना था कि तंत्र विद्या को सिद्ध करने के लिए ही उन्होंने नवजात की बलि दी है। पुलिस इस एंगल पर भी काम कर रही है। हालांकि, पोस्टमार्टम में बच्चे की मौत जन्म से पहले ही होने की पुष्टि हुई है। उधर, डालनवाला इंस्पेक्टर मणिभूषण श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है।

यह भी पढ़ें: रूद्रप्रयाग: मुख्य बाजार का पौराणिक हनुमान मंदिर सड़क चौड़ीकरण के लिये हुआ ध्वस्त, देखिये वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here