Home अल्मोड़ा उत्तराखंड: नशे में धुत होकर हैवान बना पति, कुल्हाड़ी से वार कर...

उत्तराखंड: नशे में धुत होकर हैवान बना पति, कुल्हाड़ी से वार कर पत्नी को मौत के घाट उतारा

6
0

उत्तराखंड में बीते दिन एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहाँ पति ने कुल्हाड़ी से वार कर अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया है| अल्मोड़ा जिले के बिंता क्षेत्र में एक व्यक्ति ने कुल्हाड़ी से अपनी पत्नी की हत्या कर दी। राजस्व पुलिस ने देर शाम अभियुक्त को गिरफ्तार भी कर लिया है। आरोपी पति ने अपना जुर्म कबूल लिया और मौके से राजस्व पुलिस ने कुल्हाड़ी और डंडे भी बरामद कर दिए हैं। फिलहाल हत्या की वजह साफ नहीं हो पायी है। राजस्व पुलिस के मुताबिक अत्यधिक नशे में पति ने वारदात को अंजाम दिया है। देर रात घटी इस वारदात का सुबह जब स्थानीय लोगों को पता चला तो इलाके में दहशत फैल गई।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: स्कूल खुलने के पहले ही दिन मिला कोरोना पॉजिटिव छात्र, साथी छात्रों में मचा हड़कंप

राजस्व पुलिस ने देर शाम अभियुक्त दयाकिशन को बजेल खत्ता स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया। तहसीलदार लीना चंद्रा धामी ने बताया कि दयाकिशन ने अत्यधिक शराब पी हुई थी। किसी बात पर पत्नी से झगड़ा हो गया और उसने आवेश में आकर उसकी हत्या कर दी। राजस्व पुलिस उसे कस्टडी में लेकर उसके विरुद्ध साक्ष्य जुटाने में लगी है। दयाकिशन जोशी (46 वर्ष) अपनी पत्नी बीना जोशी (39 वर्ष) तीन बच्चों और मां के साथ लंबे समय से बजेल खत्ते में रह रहे थे। पति ने यहीं हत्या की वारदात को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि मौके से राजस्व पुलिस ने कुल्हाड़ी और डंडे भी बरामद किए हैं। फिलहाल हत्या की वजह साफ नहीं हो सकी है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: बीजेपी के वरिष्ठ नेता समर्थकों के साथ आप पार्टी में हुए शामिल

राजस्व पुलिस को शक है कि वारदात में कुछ और सह अभियुक्त भी शामिल हो सकते हैं। आरोपी ने भले ही जुर्म कबूल लिया है लेकिन राजस्व पुलिस का मानना है कि वारदात को  दयाकिशन ने अकेले अंजाम नहीं दिया है, उसके साथ कुछ और अभियुक्त भी  हो सकते हैं। हालांकि यह बातें हत्यारोपी से पूछताछ के बाद ही साफ हो सकेगी। तहसीलदार लीना चंद्रा ने बताया कि अधिकांश साक्ष्य मौके से जुटा लिए गए हैं। मासूम बच्चों के सिर से मां का साया उठ गया है। बड़ी बेटी भारती जोशी सातवीं में, तन्नू जोशी चौथी और पुत्र प्रशांत जोशी दूसरी कक्षा में पढ़ते हैं। दयाकिशन भी मवेशी पालकर, मेहनत, मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण कर रहा था।

यह भी पढ़ें: शानदार: रुद्रप्रयाग में वाहन चालक की बेटी रीना का चयन DRDO में, जिले में ख़ुशी की लहर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here