Home उत्तराखंड उत्तराखंड: तिरंगे में लिपटा पहुंचा नौसेना अधिकारी का पार्थिव शरीर, घर में...

उत्तराखंड: तिरंगे में लिपटा पहुंचा नौसेना अधिकारी का पार्थिव शरीर, घर में मचा कोहराम

8
0

4 अक्टूबर रविवार को केरल के कोच्चि में ग्लाइडर हादसे में मारे गए नेवी के लेफ्टिनेंट राजीव झा का शव मंगलवार की शाम देहरादून में उनके झाझरा सैनिक कॉलोनी स्थित पैतृक आवास पर लाया गया। जहां पर लोगों ने उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर नम आंखों से विदाई दी। इसके बाद सैन्य सम्मान के साथ हरिद्वार में उनका अंतिम संस्कार किया गया। आपको बता दें कि बीती रविवार को कोच्चि में आइएनएस गरुड़ से नियमित प्रशिक्षण के दौरान ग्लाइडर दुर्घनाग्रस्त हो गया था। जिसमें नौसेना के दो अधिकारियों की मौके पर ही मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड: पहाड़ का एक और लाल आईपीएल में टीम बनाकर हुआ मालामाल, जीते पूरे 1 करोड़ रूपये

इन दो अधिकारियों में से एक लेफ्टिनेंट राजीव झा देहरादून के झाझरा के रहने वाले थे। कल शाम 4 बजे के आसपास उनका शव जैसे ही घर पहुंचा तो घर में कोहराम में मच गया। मां-पत्नी उनके पार्थिव शरीर से लिपटकर रोने लगीं। पत्नी गुड़िया रो रोकर बेसुध हो गईं। किसी तरह से लोगों ने उन्हें ढाढ़स बंधाया। मूलरूप से बिहार के समस्तीपुर जिले के रहने वाले ले. राजीव झा का पूरा परिवार देहरादून के झाझरा में रहता है। वे दो भाई और एक बहन थे। राजीव सबसे बड़े भाई थे। छोटा भाई तरुण मल्टीनेशनल कंपनी में है। राजीव 1999 में नेवी में बतौर अधिकारी भर्ती हुए थे।

यह भी पढ़ें: देहरादून से बड़ी खबर: सिरफिरे ने माँ और बेटी पर किया चाकू से हमला, फौजी पति की लद्दाख में है ड्यूटी

उनकी दो बेटियां एक छह साल और एक ढाई साल की है। लेफ्टिनेंट राजीव झा के पिता हरिनारायण झा देहरादून में ही नौकरी करते थे जिसके बाद से उनका परिवार यहीं आकर बस गया। लेफ्टिनेंट झा का शव मंगलवार को कोच्चि से विशेष विमान से दिल्ली और वहां से जौलीग्रांट लाया गया। जौलीग्रांट से सेना के वाहन से उनका शव उनके आवास पर पहुंचाया गया। यहां सैन्य सम्मान के साथ सैकड़ों लोगों ने उन्हें नम आंखों से अंतिम विदाई दी। इसके बाद हरिद्वार में अंतिम संस्कार किया गया।

यह भी पढ़ें: शर्मनाक: देर रात देहरादून में युवकों ने महिला से किया सामूहिक दुष्कर्म, जानिये पूरा मामला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here