Home उत्तराखंड शर्मनाक: रुद्रप्रयाग और पौड़ी में ससुराल पक्ष पर बेटियों की दहेज़ हत्या...

शर्मनाक: रुद्रप्रयाग और पौड़ी में ससुराल पक्ष पर बेटियों की दहेज़ हत्या का आरोप, जानिये सबकुछ

1
0

देवभूमि उत्तराखंड में एक बार फिर दहेज़ हत्या के दो नए मामले सामने आ रहे हैं, अभी कुछ समय पहले ही उत्तराखंड में अलग-अलग जगहों से दहेज़ हत्या के अनेक मामले सामने आये थे जिसके बाद उत्तराखंड के लोगों में ख़ासा आक्रोश था। अब दो नए ताजा मामले दहेज़ हत्या से जुड़े हुए बताये जा रहे हैं और मायके पक्ष ने साफ़ तौर पर इसके लिए ससुराल पक्ष को जिम्मेदार ठहराया है। पहला मामला पौड़ी जिले से सामने आ रहा है जहाँ सतपुली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम बिलखेत निवासी एक व्यक्ति ने बेटी के पति सहित अन्य ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। राजस्व पुलिस को दी तहरीर में ग्राम बिलखेत निवासी सुरेंद्र प्रसाद ने बताया कि वर्ष 2018 को उनकी बेटी संगीता का विवाह ग्राम हथनूड़ (कुठार) निवासी संजय कुमार के साथ हुआ था। शादी के कुछ समय बाद ही ससुराल पक्ष ने दहेज की खातिर संगीता से मारपीट करना शुरू कर दिया था।

यह भी पढ़िये: उत्तराखंड: पहाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा, ट्रक ने मारी कार को टक्कर, प्रधानाचार्य की मौत

अपने साथ होने वाली मारपीट के बारे में उनकी बेटी अक्सर उन्हें फोन पर बताती थी। कुछ दिन पहले उनकी बेटी पति व छोटी बेटी के साथ मायके आई थी, और फिर उसकी सास ने उसे धमकी दी कि अगर वो जल्द ही ससुराल नहीं आयी तो उसे जान से मार देंगे। इसके बाद उनकी बेटी वापस ससुराल चली गई। ससुराल वापसी के अगले दिन ही हथनूड़ के ग्राम प्रधान ने उन्हें सूचना दी कि उनकी बेटी की मौत हो गई है। जब वह बेटी के ससुराल पहुंचे तो ससुराल वालों ने उसका शव एक कमरे में बंद किया हुआ था और उन्होंने शव दिखाने से भी इन्कार कर दिया। राजस्व उपनिरीक्षक नरेंद्र सिंह ने बताया कि पिता की तहरीर पर पति संजय कुमार, ससुर मनोज कुमार, सास रुमाली देवी, देवर अमित कुमार, ननद प्रियंका और नीलम के खिलाफ दहेज हत्या में मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़िये: रुद्रप्रयाग में 500 साल पुराने पीपल के पेड़ को बचाने आगे आये लोग, की ये भावुक अपील

दूसरा मामला रुद्रप्रयाग जिले से सामने आ रहा है अगस्त्यमुनि ब्लॉक के गुनाऊं गांव की देवेश्वरी देवी ने पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजकर कहा है कि उसकी विवाहिता पुत्री की ससुराल वालों ने हत्या की है। और कहा कि वर्ष 2012 में ग्राम पंचायत नवासू के मनोज लाल से उनकी बेटी का विवाह हुआ था। जिसके तुरन्त बाद ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करते हुए मायके से पांच लाख रुपये लाने की मांग करने लगे। उसका पति भी नशे में अक्सर उसके साथ मारपीट करता था। 15 जून को ससुराल वालों ने बेटी के लापता होने व राजस्व उप निरीक्षक चौकी खेड़ाखाल में गुमशुदगी दर्ज कराने की बात भी कही। महिला ने बेटी के ससुरालियों पर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है। मामले में एसपी नवनीत सिंह ने बताया कि प्रार्थना पत्र के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़िये: इन अलौकिक शक्तिओ की वजह से कहा जाता है माँ धारी देवी को उत्तराखण्ड की रक्षक और पालनहार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here