लॉकडाउन के चलते अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासियों की हिम्मत जवाब देने लगी है। वो बस किसी तरह पहाड़ पहुंचना चाहते हैं, ताकि मुसीबत के इस वक्त में अपनों का साथ हासिल कर सकें। प्रवासियों का दर्द हम भी समझते हैं और सरकार भी, लेकिन उत्तराखंड पहुंचने के लिए कुछ लोग जैसे तरीके इस्तेमाल कर रहे हैं, वो उत्तराखंड को बड़े खतरे की तरफ धकेल रहा है।

यह भी पढ़िये: 27 लोगों से भरी उत्तराखण्ड परिवहन की बस में मिला कोरोना पाॅजिटिव, अब इन गांवों पर खतरा
ऐसे में ही एक खबर उत्तराखंड से आ रही है जहा 33 प्रवासियों को अवैध रूप से महाराष्ट्र से उत्तराखंड ट्रक में लाया जा रहा था जिसके बाद वाहन चालक के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर ट्रक को सीज कर लिया गया। आरोप है कि महाराष्ट्र से बिना अनुमति के किराया भाड़ा लेकर 33 यात्रियों को उत्तराखंड लाया जा रहा था, राजधानी देहरादून सीमा बैरियर पर पुलिस चैकिंग के दौरान ट्रक नंबर MH18AA* को रोककर ट्रक की तलाशी ली तो उसमे से 33 प्रवासी बाहर निकले और ट्रक चालक फरार हो गया।

यह भी पढ़िये: दुखद: लॉकडाउन के बाद भी कम नहीं हो रहे दुष्कर्म के मामले, देहरादून में 13 वर्षीय नाबालिग से दुष्कर्म

ट्रक में मौजूद प्रवासियों से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि वह 28 व्यक्ति टिहरी, 4 व्यक्ति चमोली व एक व्यक्ति रुद्रप्रयाग से ट्रक में आये है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते जारी लॉक डाउन के कारण रोजगार बंद हो गया है जिसकी वजह से हमने इस ट्रक को भाड़े पर अपने घर जाने के लिए बुक किया था।

यह भी पढ़िये: रुद्रप्रयाग और टिहरी के 62 होटलियर प्रवासी ट्रक में छुपकर पहुंचे ऋषिकेश, पुलिस ने सीज किया ट्रक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here