Home उत्तराखंड उत्तराखंड में बर्फबारी: चोपता से लेकर औली और मसूरी तक बर्फबारी… चांदी...

उत्तराखंड में बर्फबारी: चोपता से लेकर औली और मसूरी तक बर्फबारी… चांदी सी चमकीं उत्तराखंड की वादियां



उत्तराखंड में अगले चार दिन मौसम खराब रहने का अनुमान है। मौसम विभाग ने बारिश और बर्फबारी का अंदेशा जताया है। ज्यादातर पर्वतीय इलाकों में गर्जन के साथ बारिश के शुरू हो गयी है। मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान के अनुसार, 20, 21 और 22 जनवरी को राज्य के पर्वतीय जिलों में हल्की बारिश हो सकती है। 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों अच्छी बर्फबारी का अनुमान है। पहाड़ों में खासकर उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ जिले ज्यादा प्रभावित रहेंगे। 20 जनवरी को मैदानी इलाकों में भी बारिश होने की संभावना है। हालांकि 21 और 22 जनवरी को मैदानी इलाकों में मौसम शुष्क रहने के आसार हैं। हालांकि मौसम विभाग ने अभी कोई अलर्ट जारी नहीं किया है। 23 जनवरी को तीन हजार से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी के आसार हैं।

इस बीच गुरुवार देर रात से जारी बारिश शुक्रवार तड़के तक जारी रही और इसके बाद उत्‍तराखंड की ऊंची चोटियां बर्फ की सफेद चादर से ढक गईं। बर्फ से ढकी ये वादियां चांदी की तरह चमक रही थीं। जिन्‍हें देख दूसरे राज्‍यों से उत्‍तराखंड पहुंचे पर्यटक खुशी से खिल गए। मसूरी और धनोल्‍टी में इस साल की दूसरी बर्फबारी हुई। मसूरी में देर रात बारिश भी हुई। जिसके बाद चार दुकान और लाल टिब्बा में मौसम का दूसरा हिमपात हुआ। समीपवर्ती धनोल्टी, बुरांशखंडा, सुरकंडा और नागटिब्बा में भी हिमपात हुआ है। शुक्रवार को सुबह उठकर जब देहरादून के लोगों ने अपने घरों की खिड़कियों से झांका तो मसूरी और धनोल्‍टी की बर्फबारी से ढकी चोटियां साफ दिखाई दे रही थीं। वहीं बर्फबारी की खबर सुनते ही पर्यटक मसूरी और धनोल्‍टी के लिए निकल पड़े।

ताजा बर्फबारी के बाद अब शनिवार को वीकेंड होने चलते पर्यटकों की खासी भीड़ उमड़ने की संभावना जताई जा रही है। जिससे व्‍यापारी भी काफी खुश है। शुक्रवार को चारधाम में भी बर्फबारी हुई। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में बर्फबारी हुई। केदारनाथ में चौथे दिन शुक्रवार को भी बर्फबारी हुई है। रुद्रप्रयाग जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले इलाकों में बारिश हो रही है। यहां नीचले इलाकों में बारिश होने से कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। सर्दी से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। जोशीमठ भी बर्फबारी से ढक गया है। यहां राहत शिविरों में रह रहे प्रभावित लोग ठंड से परेशान हो रहे हैं। शासन प्रशासन द्वारा इन्‍हें सर्दी से बचाने के प्रयास भी किए गए हैं। चमोली जिले में औली, जोशीमठ, बदरीनाथ, हेमकुंड, सहित नीती माणा घाटी में बर्फबारी हुई है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here