Home उत्तराखंड छावला गैंगरेप मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूरे उत्तराखंड...

छावला गैंगरेप मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूरे उत्तराखंड में आक्रोश, जानिये पूरा मामला



सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने किरन नेगी के परिजनों के पैरों तले से जमीन खिसका दी। सोमवार को दिल्ली में 9 फरवरी 2012 के इस गैंगरेप व हत्याकांड को लेकर परिजनों ने लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। निचली अदालतों ने आरोपियों के गुनाह को देखते हुए फांसी की सजा सुनाई थी। छावला हत्याकांड पर तब लोगों में काफी गुस्सा था।  निचली आदलतों के बाद बाद यह चर्चित मामला देश की सर्वोच्च अदालत पहुंच गया था। परिजनों के मुताबिक निचली अदालों में कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद भी सुप्रीम कोर्ट में करीब 8 साल लग गए। सोमवार को इस मामले में फैसला भी आ गया। लेकिन जैसे ही कोर्ट का आदेश सुनाई दिया, वैसे ही परिजनों के पैरों टेल जमीन खिसक गयी। दुष्कर्म कांड में अभियुक्तों के सर्वोच्च न्यायालय ने बरी कर दिया है।

किरन की मां महेश्वरी देवी ने कहा कि कोर्ट का फैसला सुनकर यकीन नहीं हो रहा है। अभी आदेश की कॉपी नहीं मिली है। वह कोर्ट के बाहर ही है। कहती है कि आखिर ऐसे कैसे हो सकता है कि सर्वोच्च अदालत ने कोई सजा ही नहीं सुनाई हो और तीनों आरोपी बरी हो गए। कोर्ट में पैरवी को लेकर भी मां संतुष्ट नहीं दिखाई दे रही थी। मां महेश्वरी देवी सहित परिजन कोर्ट के इस फैसले से जितना हैरना है उनते ही चिंतिंत भी। महेश्वरी देवी आगे कहती है कि आरोपियों को उम्र कैद या आजीवन कारावास की सजा भी हो जाती तो कम से कम उनका दिल तो मान जाता, लेकिन सभी आरोपी बरी ही हो गए। परिजनों के साथ साथ सुप्रीम कोर्ट के इस फैंसले पर पूरे उत्तराखंड के लोग भी आक्रोश में हैं.

क्या है 2012 का छावला रेप-मर्डर केस

बता दें कि उत्तराखंड की ‘निर्भया’ दिल्ली में छावला के कुतुब विहार में रहती थी। 14 फरवरी 2012 को वह अपने काम से घर आ रही थी। तभी रास्ते में राहुल, रवि और विनोद नाम के तीनों आरोपियों ने लड़की को अगवा कर लिया। उस दिन जब वह देर शाम तक घर नहीं लौटी तो परिजनों को चिंता हुई। लड़की को खूब तलाशा गया लेकिन कहीं पता ना चला। काफी खोजबीन के बाद पुलिस को लड़की की लाश हरियाणा के रेवाड़ी में बहुत बुरी हालत में पाई गई। बाद में जांच में पता चला कि उसे काफी यातनाएं दी गई थीं।

तेजाब डाला, गर्म लोहे से दागा, टूल से मारा

जब इस मामले के धागे खुले और सच सामने आया तो लोगों के होश उड़े रहे गए। पता चला कि दोषियों ने लड़की के साथ गैंगरेप तो किया ही साथ ही उसे असहनीय यातनाएं भी दी थीं। लड़की को कार में इस्तेमाल होने वाले टूल्स से बेरहमी से मारा। उसके पूरे शरीर को सिगरेट से जलाया। इतना ही नहीं दरिंदों ने लड़की के चेहरे और आंखों को तेजाब से जलाया था। इसके बाद सभी आरोपी गिरफ्तार हो गए थे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here