Home अन्य ख़बरें दिल दहला देने वाली घटना:3 माह की बेटी को रूमाल का फंदा...

दिल दहला देने वाली घटना:3 माह की बेटी को रूमाल का फंदा बनाकर दीवार की खूंटी से लटकाया, उसके बाद मां ने खुद भी लगाई फांसी

3
0

मामला राजस्थान के पिपराली राेड का है, जहॉ महिला ने अपनी तीन महीने की बेटी काे रूमाल का फंदा बनाकर दीवार पर लगी खूंटी से लटकाकर उसकी जान ले ली। इसके बाद खुद भी चुन्नी से पंखे से फंदा लगाकर जान दे दी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पिपराली राेड स्थित सूर्य नगर में बुधवार सुबह दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। एक मां ने पहले अपनी तीन महीने की बेटी काे रूमाल का फंदा बनाकर दीवार पर लगी खूंटी से लटकाकर उसकी जान ले ली। इसके बाद खुद ने भी चुन्नी से पंखे से फंदा लगाकर जान दे दी। घटना के बाद दाेनाें के शव एसके अस्पताल की माेर्चरी में रखवाए गए हैं।

गुरुवार सुबह मृतका के मायके पक्ष के सामने दाेनाें का पाेस्टमार्टम किया जाएगा। 38 वर्षीय विजय लक्ष्मी पत्नी अनिल हरियाणा नारनाैल के खाताैली गांव की रहने वाली थी। इसकी शादी 2004 में पिपराली राेड सूर्य नगर निवासी अनिल बलाई के साथ हुई थी।

विजय लक्ष्मी कुछ दिनाें पहले ही अपने मायके गई थी। एक जनवरी काे ही उसका पति अनिल उसकाे मायके से अपने घर लेकर आया था। पति अनिल ने बताया कि मंगलवार रात करीब साढे़ सात बजे उसकी पत्नी खाना खाकर छत पर बने कमरे में उसकी तीन महीने की बेटी गुड़िया काे लेकर साे गई थी। अनिल का एक्सीडेंट हाेने के कारण वह बीमार था और भी उसके बगल वाले कमरे में साे रहा था।

सुबह सात बजे वह उठा ताे उसने अपनी पत्नी काे आवाज लगाई। जवाब नहीं मिला ताे वह उसके कमरे में गया। यहां देखा कि उसकी पत्नी विजय लक्ष्मी पंखे से चुन्नी का फंदा लगाकर लटकी हुई है और पास की दीवार पर उसकी तीन महीने की बेटी खूंटी से लटक रही है। उसने अपने पिता की मदद से दाेनाें काे नीचे उतारा और बेड पर लेटा दिया।

घटना की सूचना उद्योग नगर पुलिस काे दे दी। माैके पर पहुंची पुलिस ने एफएसएल टीम काे बुलाकर साक्ष्य जुटाए और शव एसके अस्पताल की माेर्चरी में रखवा दिए हैं। पति अनिल काे पूछताछ के लिए थाने पर लाया गया है। पुलिस का मानना है कि सुसाइड की वजह गृह क्लेश हो सकता है।

पुलिस के अनुसार दाेनाें पत्नी-पत्नी के बीच पहले से मनमुटाव चल रहा था। जिस पर उसकी पत्नी ने अपने पति पर दहेज का मुकदमा भी महिला में थाने में दर्ज कराया था। हालांकि बाद में दाेनाें के बीच समझाैता हाे गया था और दाेनाें वापस साथ रहने लगे थे।

विजय लक्ष्मी का पति स्कूल में पढ़ाता था। अभी हाल ही में उसका एक्सीडेंट हाेने पर बीमार था और काम पर भी नहीं जा रहा था। विजय लक्ष्मी का भाई दिल्ली पुलिस में है। विजय लक्ष्मी और उसकी बेटी गुड़िया का पाेस्टमार्टम भी मायके पक्ष के आने के बाद ही किया जाएगा।

एएसआई नरेशचंद्र ने बताया कि विजय लक्ष्मी का एक तीन साल का लड़का भी है। लेकिन, विजय लक्ष्मी जब अपने पति अनिल के साथ मायके से सीकर लाैटी ताे उसने अपने बडे़ बेटे काे नाना के पास ही छाेड़ दिया था। शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि अनिल शराब भी पीता था। इसी वजह से दाेनाें में झगड़ा हाेता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here