Home उत्तराखंड तीन दिन तक आतंक और खौफ के साए में जी रहा था...

तीन दिन तक आतंक और खौफ के साए में जी रहा था श्रीनगर, अब जाकर इस तरह मिली राहत

800
0

ये बात है बीते रविवार यानी 30 जून की जब बीते रविवार श्रीनगर गढ़वाल के मेडिकल कॉलेज की बिल्डिंग में एक गुलदार आ गया था। इसके बाद गुलदार को ढूढने को लेकर पिछले तीन दिनों से  तलाशी अभियान शुरू किया गया। इस दौरान जैसे ही खोजबीन टीम कम्युनिटी मेडिसन विभाग से गुजर रही थी कि अचानक गुलदार ने शौचालय से बाहर आकर उन पर हमला कर दिया था। तभी शिकारी अजहर खान ने रायफल से उसे गोली मारी, जिसके तुरंत बाद मशहूर शिकारी जॉय हुकिल ने गुलदार को दूसरी गोली मारी। इससे गुलदार की मौत हो गई।

रविवार को गुलदार ने अंदर घुसते समय एक क्लर्क को घायल कर दिया था। फिर इसके बाद वह गायब हो गया। दोपहर में उसने कांच का गेट तोड़कर दो सुरक्षाकर्मियों को घायल कर दिया था। वन विभाग की टीम, शूटर्स और पुलिस दो रातों से गुलदार की ताक में बाहर ही बैठे रहे, लेकिन वह बाहर नहीं आया। इस सबके बाद पूरे श्रीनगर में डर का एक माहौल बन गया था। श्रीनगर मेडिकल कॉलेज से गुलदार का रेस्क्यू करना काफी कठिन था। मुख्य भवन में भूतल सहित चार मंजिल हैं।

यहां प्रत्येक विभाग गैलरी के जरिए एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। यहां हॉल, कमरे और बाथरूम भारी संख्या में हैं। ऐसे में उसको ढूंढना काफी मुश्किल काम था। सोमवार दोपहर रेस्क्यू टीम ने मुख्य भवन से जुड़ी इमारतों को जोड़ने वाले रास्तों को भी बंद कर दिया, ताकि गुलदार इन इमारतों में न जाने पाए। पौड़ी जिले के डीएफओ लक्ष्मण सिंह रावत ने बताया कि मुख्य भवन के तीन और निकास द्वारों पर पिंजरे लगा दिए गए थे, कुल मिलाकर मुख्य भवन में चार पिंजरे लगाए थे। शिकारी जॉय हुकिल और वन विभाग की टीम ने आज सुबह गुलदार को मार गिराया।

राज्य सरकार की उपलब्धियों/योजनाओं/डेंगू से बचाव" वीडियो विज्ञापन



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here