Uttarakhand

देवभूमि में चंबा, अगस्त्यमुनि और मुनि की रेती ने इस काम में मारी सबसे पहले बाजी

30views

पूरे देशभर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत उत्तराखंड 18 फरवरी 2018 को खुले से शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित हो चुका था। इसके तहत प्रत्येक घर में शौचालय होने पर निकाय को ओडीएफ घोषित करने के मानक तय किये गए थे। केंद्र सरकार ने ओपीडी के साथ सीवरेज और सेफ्टी टैंक सिस्टम में सुधार के लिए ओडीएफ प्लस और ओडीएफ प्लस प्लस श्रेणी तय की थी।

अब इसी काम में देवभूमि उत्तराखंड के  चंबा, अगस्त्यमुनि और मुनि की रेती ने बाजी मारी है। टिहरी जिले के चंबा को ओडीएफ प्लस प्लस शहर घोषित किया गया है। नगर पालिका परिषद चंबा के दावों का निरीक्षण करने के बाद शुक्रवार को आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। आपको बता दें चंबा उत्तराखंड की पहली निकाय है, जिसे खुले से शौच मुक्त अभियान में डबल प्लस घोषित किया गया है। इस श्रेणी के लिए नगर निगम देहरादून के दावे का निरीक्षण भी किया जा रहा है।

छोटा शहर होने के कारण नगर पालिका परिषद चंबा ने यह उपलब्धि हासिल कर ली है, लेकिन नगर निगम देहरादून के लिए यह आसान नहीं है। ओडीएफ प्लस के लिए प्रदेश के 90 निकायों ने दावा किया है। इन निकायों का निरीक्षण 31 जनवरी तक पूरा होने के बाद केंद्र की ओर से सूची जारी की जाएगी। वहीं, नगर पंचायत अगस्त्यमुनि को ओडीएफ प्लस में पहला और नगर पालिका परिषद मुनीकीरेती को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है।

Leave a Response