NationalUttarakhandचम्पावत

पुलवामा मुठभेड़ में देवभूमि का लाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल

307views

उत्तराखंड के चंपावत के जवान राहुल रैंसवाल मंगलवार को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गये। खबर सुनकर शहीद के घर में कोहराम मचा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सुरक्षबलों को मंगलवार ख्रीव के जंतरंग इलाके में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की ख़बर मिली थी। इस आधार पर सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और एसओजी के जवानों ने सुबह करीब 11 बजे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया।

इसी दौरान एक मकान में छिपे आतंकियों ने जवानों पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं, तो सुरक्षा बलों ने भी जवाबी फायरिंग की। जिसमें
18 कुमाऊं (अभी 50 आरआर) के जवान राहुल रैंसवाल शहीद हो गये। उनके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसपीओ राजोरी निवासी शाहबाज अहमद भी शहीद हो गए।

बताया जा रहा है दोनों आतंकियों को मार दिया गया है, लेकिन तलाशी के दौरान किसी का शव बरामद नहीं हो पाया। इलाके में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन लगातार जारी है।

शहीद राहुल रैंसवाल (25) का परिवार उत्तराखंड के चंपावत के कनलगांव में रहता है। शहादत की खबर से परिवार में मातम छा गया। पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है।

शहीद राहुल 2012 में फौज में भर्ती हुआ था और शहीद का बड़ा भाई राजेश रैंसवाल भी 2009 से फौज में है जो इस वक्त 15 कुमाऊं में लखनऊ में तैनात है। अपर जिलाधिकारी टीएस मर्तोलिया ने बताया कि शहीद राहुल रैंसवाल का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा। शहीद की पार्थिव देह बृहस्पतिवार तक यहां पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

Leave a Response